देशराजनीति

राज्यसभा के लिए निर्विरोध चुने गए 36 उम्मीदवार, बाकी सीटों पर 10 जून को होगी वोटिंग; देखिए नए सांसदों की पूरी लिस्ट…

राज्यसभा के 10 जून को होने वाले द्विवार्षिक चुनाव के लिए नामांकन दाखिल करने वाले 41 उम्मीदवार निर्विरोध निर्वाचित हो गए। ये निर्वाचित प्रत्याशी उत्तर प्रदेश, बिहार, झारखंड, उत्तराखंड, मध्य प्रदेश, छत्तीसगढ़, पंजाब एवं तमिलनाडु से राज्यसभा पहुंचे हैं। विजयी उम्मीदवारों में भाजपा, कांग्रेस, आप, रालोद, सपा, झामुमो, द्रमुक, अन्नाद्रमुक एवं वाईएसआर कांग्रेस पार्टियों के अलावा एक निर्दलीय प्रत्याशी शामिल हैं। 3 जून नाम वापसी का अंतिम दिन था।

उत्तर प्रदेश: भाजपा के आठ सदस्य समेत 11 निर्विरोध जीते
राज्यसभा के लिए उत्तर प्रदेश से भाजपा के आठ सदस्यों सहित 11 सदस्य निर्विरोध चुने गए हैं। चुने गए आठ भाजपा सदस्यों में लक्ष्मीकांत वाजपेयी, डॉ. राधा मोहन दास अग्रवाल, सुरेंद्र नागर, डॉ. के. लक्ष्मण, मिथिलेश कुमार, बाबूराम निषाद, संगीता यादव एवं दर्शन सिंह हैं। कपिल सिब्बल को निर्दलीय उम्मीदवार के रूप में चुना गया है। वहीं, राष्ट्रीय लोक दल (रालोद) के अध्यक्ष जयंत चौधरी को भी निर्वाचित घोषित किया गया है। दोनों को समाजवादी पार्टी के समर्थन से चुना गया है। समाजवादी पार्टी के जावेद अली भी चुने गए हैं। निर्वाचन अधिकारी बृजभूषण दुबे ने निर्वाचित सदस्यों को उनके प्रमाण पत्र दिए।

झारखंड: झामुमो के माजी, भाजपा के साहू ने लिया सर्टिफिकेट
झारखंड मुक्ति मोर्चा (झामुमो) की महुआ माजी और भाजपा के आदित्य साहू को शुक्रवार को झारखंड से राज्यसभा के लिए निर्विरोध निर्वाचित घोषित किया गया। माजी और साहू की संसद के उच्च सदन में यह पहली पारी होगी। झारखंड विधानसभा के सचिव और चुनाव के लिए रिटर्निंग अधिकारी सैयद जावेद हैदर ने नतीजों की घोषणा की। माजी पहले झारखंड राज्य महिला आयोग की अध्यक्ष थीं। वह झामुमो की महिला इकाई की अध्यक्ष भी रह चुकी हैं। झामुमो नेता ने पूर्व में रांची विधानसभा सीट से चुनाव लड़ा था, लेकिन हार गई थीं। राज्य की 81 सदस्यीय विधानसभा में झामुमो के 30 विधायक हैं, जबकि कांग्रेस के 17 विधायक तथा मुख्य विपक्षी दल भाजपा के 26 विधायक हैं।

पंजाब: आप के सीचेवाल और साहनी चुने गए
राज्यसभा चुनाव में पंजाब से आम आदमी पार्टी (आप) के उम्मीदवारों पर्यावरणविद बलबीर सिंह सीचेवाल और उद्यमी एवं सामाजिक कार्यकर्ता विक्रमजीत सिंह साहनी को निर्विरोध चुन लिया गया है। पंजाब विधानसभा के निर्वाचन अधिकारी सह सचिव सुरिंदर पाल ने बताया कि सीचेवाल और साहनी दोनों को निर्विरोध विजेता घोषित किया गया है। आप ने राज्यसभा की दो सीटों के लिए सीचेवाल और साहनी को नामित किया था। पंजाब से राज्यसभा सदस्यों अंबिका सोनी (कांग्रेस) और बलविंदर सिंह भुंडर (शिअद) का कार्यकाल 4 जुलाई को समाप्त होगा।

मध्यप्रदेश: तन्खा, सुमित्रा और कविता राज्यसभा पहुंचे
वरिष्ठ वकील एवं कांग्रेस नेता विवेक तन्खा, भाजपा की महिला नेता कविता पाटीदार और सुमित्रा वाल्मीकि को शुक्रवार को मध्य प्रदेश से राज्यसभा के लिए निर्विरोध निर्वाचित घोषित किया गया।

तन्खा उच्च सदन में लगातार दूसरी बार निर्वाचित हुए हैं। वाल्मीकि और पाटीदार दोनों ही राज्यसभा में पहली बार जा रहे हैं। मध्य प्रदेश विधानसभा के प्रमुख सचिव एवं राज्यसभा चुनाव के लिए निर्वाचन अधिकारी एपी सिंह ने परिणामों की घोषणा की। उन्होंने बताया कि राज्य की तीन खाली सीटों के लिए किसी अन्य उम्मीदवार ने नामांकन दाखिल नहीं किया था, जबकि आज उम्मीदवारी वापस लेने की आखिरी तारीख थी। मालूम हो कि पाटीदार पहले मध्यप्रदेश महिला आयोग के सदस्य के तौर पर काम कर चुकी हैं। वहीं, वाल्मीकि तीन दफा जबलपुर नगर निगम में पार्षद एवं एक बार एल्डरमैन रह चुकी हैं। वहीं, तन्खा वर्तमान में राज्यसभा के सदस्य हैं और उनका मौजूदा कार्यकाल अगले माह समाप्त हो जाएगा। मध्यप्रदेश की कुल 11 राज्यसभा सीटों में से मौजूदा समय में भाजपा के पास आठ जबकि कांग्रेस के पास तीन सीटें हैं।

छत्तीसगढ़: कांग्रेस के शुक्ला और रंजन निर्विरोध निर्वाचित
छत्तीसगढ़ में सत्ताधारी कांग्रेस पार्टी के उम्मीदवार राजीव शुक्ला और रंजीत रंजन शुक्रवार को राज्यसभा के लिए निर्विरोध चुन लिए गए। विधानसभा के सचिव दिनेश शर्मा ने यह जानकारी दी। शर्मा ने बताया, कांग्रेस उम्मीदवार रंजीत रंजन ने स्वयं उपस्थित होकर जबकि राजीव शुक्ला की ओर से उनके भाई ने उनका निर्वाचन प्रमाण-पत्र प्राप्त किया। छत्तीसगढ़ के पांच राज्यसभा सदस्यों में से दो छाया वर्मा (कांग्रेस) और रामविचार नेताम (भाजपा) का कार्यकाल इस महीने समाप्त हो रहा है। राज्य के तीन अन्य राज्यसभा सदस्य कांग्रेस से केटीएस तुलसी और फूलो देवी नेताम जबकि भाजपा से सरोज पांडेय हैं।

मालूम हो कि यूपी के रहने वाले व पत्रकारिता से राजनीति में आए 63 वर्षीय शुक्ला इससे पहले तीन बार राज्यसभा सदस्य रह चुके हैं। रंजीत रंजन बिहार से पूर्व लोकसभा सांसद हैं। रंजन के निर्विरोध चुन लिए जाने के बाद अब राज्य से तीन महिला राज्यसभा सदस्य हो गई हैं। छत्तीसगढ के 90 सदस्यीय विधानसभा में कांग्रेस के 71 विधायक हैं जबकि भाजपा के 14, जनता कांग्रेस छत्तीसगढ़ (जे) तीन और बसपा के दो विधायक हैं। राज्य के मुख्य विपक्षी दल भाजपा ने राज्य विधानसभा में अपनी कम ताकत को देखते हुए अपना उम्मीदवार नहीं उतारा था।

बिहार : पांचों प्रत्याशी निर्विरोध निर्वाचित
बिहार से राज्यसभा की पांचों सीटों के लिए जदयू, भाजपा और राजद के प्रत्याशी शुकवार को निर्विरोध निर्वाचित हो गए। जदयू प्रत्याशी खीरू महतो, भाजपा उम्मीदवार सतीश चंद्र दूबे एवं शंभू शरण पटेल जबकि राजद प्रत्याशी मीसा भारती और डॉ. फैयाज अहमद को जीत का प्रमाणपत्र अपराह्न करीब चार बजे दिया गया। विधानसभा सचिव शैलेंद्र सिंह ने यह जानकारी दी।

तमिलनाडु : चिदंबरम, पांच अन्य राज्यसभा पहुंचे

तमिलनाडु से नामांकन दाखिल करने वाले सभी छह उम्मीदवारों को अधिकारियों ने शुक्रवार को निर्विरोध निर्वाचित घोषित कर दिया। इनमें सत्ताधारी द्रमुक के तीन उम्मीदवार भी हैं। निर्विरोध निर्वाचित होने वालों में सत्ताधारी द्रमुक के एस कल्याणसुंदरम, आर गिरिराजन और केआरएन राजेश कुमार, अन्नाद्रमुक के सीवी शनमुगम और आर धर्मर एवं कांग्रेस पार्टी के उम्मीदवार पी. चिदंबरम शामिल हैं। चिदंबरम के चयन के साथ कांग्रेस पार्टी के पास लंबे अंतराल के बाद राज्यसभा में तमिलनाडु से एक सदस्य होगा। 2016 में चिदंबरम महाराष्ट्र से राज्यसभा के लिए चुने गए और उनका कार्यकाल इस साल 4 जुलाई को समाप्त हो रहा है।

उत्तराखंड: डॉ. कल्पना सैनी के निर्चाचन पर मुहर
भाजपा नेता डॉ. कल्पना सैनी राज्यसभा के लिए निर्विरोध निर्वाचित हो गई हैं। शुक्रवार को विधानसभा भवन में रिटर्निंग अफसर और विधानसभा के सचिव मुकेश सिंघल ने उन्हें निर्वाचन सर्टिफिकेट सौंपा। अब लोकसभा के साथ ही राज्यसभा की तीनों सीटें भी भाजपा के झोली में आ गई हैं। मीडिया से बातचीत में डॉ. सैनी ने कहा कि वह पार्टी नेतृत्व की कसौटी पर खरा उतरने का प्रयास करेंगी। खुद को उत्तराखंड की बेटी बताते हुए उन्होंने कहा कि वह प्रदेश की समस्याओं को राज्यसभा में उठाएंगी।

आंध्र प्रदेश: वाईएसआरसी के चार प्रत्याशी जीते
आंध्र प्रदेश से राज्यसभा के लिए हुए द्विवार्षिक चुनाव में शुक्रवार को वाईएसआर कांग्रेस (वाईएसआरसी) के चार प्रत्याशियों को निर्विरोध निर्वाचित घोषित कर दिया गया। राज्य के मुख्य निर्वाचन अधिकारी मुकेश कुमार मीणा ने यह घोषणा की। निर्वाचित उम्मीदवारों में वी. विजयसाई रेड्डी, बी. मस्तान राव, आर. कृष्णैया और एस. निरंजन रेड्डी शामिल हैं। राज्यसभा में अब वाईएसआर कांग्रेस के सदस्यों की संख्या बढ़कर नौ हो गई है। आंध्र प्रदेश से राज्यसभा की 11 सीटें हैं। उनमें से एक सीट भाजपा और एक सीट तेलुगु देशम पार्टी (टीडीपी) के पास है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.