बिलासपुर

जिला मुख्यालय के नाक के नीचे निर्वाचन संबंधी दस्तावेजों की नष्टीकरण में बड़ी गड़बड़ी को “ताजाखबर36गढ़” ने किया उजागर…

बिलासपुर। जिला प्रशासन के नाक के नीचे बेहद ही गंभीर और बड़ी गड़बड़ी होने जा रही थी, स्क्रैप की आड़ में निर्वाचन संबंधित साबुत दस्तावेजों को ट्रक में भरकर ले जाने की पूरी तैयारी कर ली गई थी। जैसे ही ताजाखबर36गढ़ ने बड़ी गड़बड़ी को उजागर करना शुरू किया ,वैसे ही व्यापारी ने अपनी गलती मानते हुए साबुत दस्तावेजों को कैमरे के सामने फाड़ना भी शुरू कर दिया।

दरअसल प्राप्त जानकारी के मुताबिक़ निर्वाचन संबंधित दस्तावेजों के नष्टिकरण के लिए निर्वाचन कार्यालय से अगस्त 2022 विधिवत तरीके से टेंडर निकाला गया। उस टेंडर के नियमावली में स्पष्ट लिखा है की जिला निर्वाचन कार्यालय से निर्वाचन संबंधित कोई भी दस्तावेज बिना स्क्रैप किए बाहर नहीं ले जाया जा सकता। स्क्रैप का अवलोकन निर्वाचन अधिकारी की मौजूदगी में होगा और फिर स्क्रैप का उठाव किया जा सकेगा पर आज जिला प्रशासन मुख्यालय से लगे भवन स्थित स्थानीय निर्वाचन कार्यालय से बिना अधिकारियों की मौजूदगी के एक ट्रक खड़े होने की सूचना मिली। जिसमें स्क्रैप भरा हुआ था।

पड़ताल करने पर पता चला कि स्क्रैप के भीतर बड़ी संख्या में निर्वाचन संबंधित साबुत दस्तावेज कई बोरियों में भरी पड़ी है। जब हमने व्यापारी से पूछा की क्या बिना स्क्रैप (कतरन) किए इसे लिजाया जा सकता है ,तो तुरंत ही व्यापारी हड़बड़ा गया और कहा नही ले जाया जा सकता, चुकी स्क्रैप करने वाली मशीन खराब हो गई है इसलिए कुछ साबुत दस्तावेज बच गए है, और फिर व्यापारी ने साबुत निर्वाचन दस्तावेजों को कैमरे के सामने ही फाड़ने लगा।

वही जब हम स्थानीय निर्वाचन कार्यालय अधिकारी से जानकारी लेने पहुंचे तो लंच टाईम के कारण मैडम से मुलाकात हो न सकी। पर कार्यालय में मौजूद अन्य महिला एवम पुरुष कर्मचारियों से हमने नियम पूछा तो उन्होने कहा की बिना स्क्रैप (कतरन) के निर्वाचन संबंधी दस्तावेजों का उठाव नही किया जा सकता। साथ ही केंद्र के निर्वाचन अधिकारी ने भी यही बताया।

बहरहाल ताजाखबर36गढ़ ने आज एक बड़ी गड़बडी को उजागर कर नियमविरुद्ध होने जा रहे निर्वाचन दस्तावेजों की गड़बड़ी को रोकने का प्रयास किया। नही तो टेंडर के नियमावली मुताबिक एक नियम विरुद्ध बीना स्क्रैप के निर्वाचन दस्तावेज को बाहर ले जाने और दुरुपोग होने की आशंका को भी टाला नहीं जा सकता है।