Advertisement
आस्था

नवगठित कमेटी ने लिया SDM से दरगाह लुतरा शरीफ के संचालन व वित्तीय प्रभार, इरशाद अली अध्यक्ष और रियाज अशरफी बनाए गए सचिव…

बिलासपुर के लुतरा शरीफ में स्थित छत्तीसगढ़ की सबसे बड़ी और मान्यता वाली सूफी-संत हजरत बाबा सैय्यद इंसान अली शाह की

बिलासपुर। बिलासपुर के लुतरा शरीफ में स्थित छत्तीसगढ़ की सबसे बड़ी और मान्यता वाली सूफी-संत हजरत बाबा सैय्यद इंसान अली शाह की दरगाह, शाही नूरानी मस्जिद तथा दारुल उलूम फैज़ाने बाबा इंसान अली के संचालन एवं व्यवस्थापन के लिए छत्तीसगढ़ राज्य वक्फ़ बोर्ड द्वारा गठित 11 सदस्यीय कमेटी ने शुक्रवार को दरगाह के वर्तमान प्रशासक मस्तूरी एसडीएम बजरंग सिंह वर्मा से वित्तीय सहित सभी प्रकार के संचालन का प्रभार ले लिया है।मस्तूरी के अनुविभागीय दंडाधिकारी कार्यालय में दरगाह से संबंधित जरूरी समान की लिस्ट चाबियों के साथ-साथ चेक बुक पंचनामा के साथ अनुविभागीय अधिकारी श्री वर्मा ने नई कमेटी को सौंप दिया है।

बता दें कि पिछले करीब 3 साल से दरगाह के प्रबंधन का काम प्रशासक के रूप में मस्तूरी एसडीएम देख रहे थे। लुतरा शरीफ दरगाह के संचालन के लिए नई समिति का गठन किया गया है जिसमें मुतवल्ली (अध्यक्ष) के रूप में बिलासपुर प्रेस क्लब के अध्यक्ष इरशाद अली को जिम्मेदारी दी गई। उपाध्यक्ष मोहम्मद सिराज रायपुर, सेक्रेटरी रियाज अशरफी सीपत, सह-सचिव हाजी गुलाम रसूल खान साबरी रायगढ़, खजांची रोशन खान लुतरा, के अलावा मेंबर के रूप में मुस्लिम जमात लुतरा शरीफ के अध्यक्ष हाजी अब्दुल करीम बेग, मोहम्मद कुद्दूस चांटीडीह, महबूब खान कोरबा, हाजी मोहम्मद जुबेर रायपुर, अब्दुल रहीम चांपा और खमरिया दादी अम्मा के खादिम फिरोज खान को शामिल किया गया है।

वक़्फ़ बोर्ड ने उर्स कमेटी पर जताया भरोसा

हजरत बाबा सैय्यद इंसान अली शाह का पिछले दिनों 1 नवम्बर से 5 नवम्बर 2023 तक आयोजित 5 दिवसीय 65 वां सालाना उर्स के संचालन के लिए छ.ग. राज्य वक्फ बोर्ड ने 11 सदस्यीय उर्स संचालन समिति का गठन किया था। उर्स कमेटी ने बहुत ही कम समय मे पारदर्शिता के साथ उर्स का भव्यता के साथ सफल संचालन किया। कमेटी की कार्यशैली को देखते हुए राज्य वक़्फ़ बोर्ड ने कुछ फेरबदल करते हुए फिर से उसी कमेटी पर भरोसा जताया है। दरगाह के नए मुतवल्ली (अध्यक्ष) इरशाद अली ने कहा कि दरगाह इंतेजामिया कमेटी का सिर्फ एक ही मकसद है कि यहां आए हुए जायरीनों के लिए बेहतर इंतेजाम और उनकी सुविधाओ के अनुरूप विकास किया जाए। उन्होंने कहा आने वाले दिनों में व्यवस्था के नाम पर दरगाह लुतरा में बहुत कुछ बदलाव नज़र आएगा।

error: Content is protected !!