आस्थाछत्तीसगढ़

ब्रेकिंग न्यूज और खबरों के बीच विराजेंगे गणपति बप्पा, पंडाल में 500 किलो न्यूज पेपर का होगा इस्तेमाल…

विघ्नहर्ता मंगल मूर्ति श्री गणेश के आगमन की तैयारियां पूरे देश भर में शुरू हो चुकी है। दुर्ग जिले में भव्य पंडाल सज रहें हैं। जिसमें गणपति बप्पा की स्थापना की जाएगी। लेकिन इन पंडालों इस बार एक खास थीम के तहत सजाया जा रहा है। भिलाई के टाउनशिप में ऐसे ही एक पंडाल को समाचार पेपर के माध्यम से खबरों की थीम पर सजाया जा रहा है। जिसकी तैयारी 30 दिन पहले से ही शुरू कर दी गई है। आइए जानते हैं कि इस पंडाल में क्या ब्रेकिंग न्यूज देखने को मिलेगा।

ब्रेकिंग न्यूज की थीम पर सज रहा पंडाल

हर बार की तरह इस बार भी भिलाई में गणेश पंडाल में एक नए व अलग थीम को लेकर पंडाल तैयार किया जा रहा है। सेक्टर 2 न्यू आजाद गणेश उत्सव समिति की तरफ से इस बार गणेश पंडाल को खबर की थीम पर तैयार करवाया है. बप्पा के दरबार में शहर के बेस्ट पत्रकारों के बेस्ट खबरों की झलकियां देखने को मिलेगी। इसके साथ ही 11 दिनों तक टेलीविजन की ब्रेकिंग खबरें भी आपको देखने को मिलेगी। ऐसा पूरे छत्तीसगढ़ में पहली बार हो रहा है. जब गणेश पंडाल एक विशेष खबरों की थीम पर बनाया जा रहा है।

भिलाई में 11 दिनों तक होता है भव्य आयोजन

दुर्ग जिले के भिलाई में भी गणेश चतुर्थी का पर्व बड़े ही धूमधाम से मनाया जाता है। यहां की भव्य आकर्षक पंडाल देखने प्रदेश भर से लोग एकत्र होते हैं। बीते दो साल कोरोना से प्रभावित होने के कारण यहाँ लोगों की भीड़ कम देखने को मिली कि प्रतिबंधों के कारण गणेश उत्सव समितियों ने भी खास तैयारी नही की थी। लेकिन इस बार दुर्ग के सभी क्षेत्रों में खासकर भिलाई के टाउनशिप, केलाबाड़ी, कोहका, ख़ुर्शीपार में लगभग 50 से अधिक भव्य पंडाल विशेष थीम पर सजाया जा रहा है। जिसे देखने प्रदेश भर के लोग पहुंचते हैं।

कोलकाता के 40 कारीगर कर रहे हैं निर्माण

गणेश चतुर्थी के दो माह पहले ही भिलाई में पंडालों की तैयारी शुरू की जाती है। सेक्टर 2 के न्यू आजाद गणेश उत्सव समिति के इस खबरों की थीम पर बने रहे पंडाल तैयार करने के लिए कोलकाता से 40 विशेष कारीगरों की टीम भिलाई पहुंची हैं। ये कारीगर पिछले दो माह से दिन रात काम करके पंडाल को तैयार कर रहे हैं। इस पंडाल में भिलाईवासियों को भगवान श्री गणेश के दर्शन के साथ ही यहां बंगाली नव दुर्गा के दर्शन भी होंगे. यह भी पहली बार ही हो रहा है जब गणेश उत्सव में माता दुर्गा के नवरूप के भी दर्शन भक्तों को होंगे.

500 किलो न्यूज पेपर का इस्तेमाल, लगेंगे सीसीटीवी कैमरे

इस पंडाल को तैयार करने में करीब 3 क्विंटल न्यूज पेपर का उपयोग किया जा रहा है। इसके साथ ही बर सीट 200 फीट, प्लाई पट्टी 130, 200 नग बांस टोकरी, पाकूटी लकड़ी, जूट कतरन कपड़ों भी सबसे अधिक उपयोग किया गया है। उसका उपयोग किया गया है। इस पंडाल तैयार करने में अधिकतर न्यूज पेपर का इस्तेमाल किया गया हैं। पंडाल की हाइट 50 फीट और 120 फीट फ्रंट की चौड़ाई है। इंटीयरियल 5 हजार स्कवायर फीट है. जहां एक साथ करीब 300 भक्त दर्शन कर सकेंगे. सुरक्षा के लिहाज से यहां 50 सीसीटीवी केैमरे भी लगाए गए है.

कैसे चुना गया यह थीम

दरअसल समिति के अध्यक्ष श्रीनिवास हर साल की तरह पंडाल में एक नए थीम की तलाश में थे। जिसके बाद कोलकाता से आए कारीगर सुजीत आदक ने उन्हें सुझाया। उन्होने बताया कि ‘कोरोना काल में सभी घरों में बंद थे इस दौरान लोगों के लिए खबर ही एक बड़ा सहारा थी। लोग अखबार के भरोसे जनाकरी लेते थे घर से निकलना मुश्किल था। उसी को देखते हुए इस पंडाल की थीम खबर रखा गया हैं। इसके साथ ही टेलीविजन के ब्रेकिंग न्यूज की थीम पर पंडाल बना रहे हैं। रोज ब्रेकिंग न्यूज की खबरे यहाँ देखने को मिलेगी। जिले के पत्रकारों की बेस्ट खबरों की झलकियां भी इस पंडाल में देखने को मिलेगी।

रोज निकलेगी देवी देवताओं की झांकियां

समिति के अध्यक्ष श्री निवास राव ने बताया कि कोरोना काल की वजह से दो साल तक कोई आयोजन नही हो सका था। इसलिए इस बार भव्य रूप से आयोजन कर रहे हैं. भक्तों को भगवान सिद्दी विनायक के दर्शन करने को मिलेंगे। यहां 10 फीट ऊंची प्रतिमा स्थापित होगी। जिसे थनौद के मूर्तिकार राधेश्याम तैयार कर रहे हैं। मूर्ति की लागत करीब डेढ़ लाख रुपये है। यह पंडाल पूरी तरह से वातानिकुलित रहेगा। रोज अलग-अलग विषय पर झांकी निकाली जाएगी। कलाकार देवी-देवताओं का रूप धारण करके झांकी की प्रस्तुति देंगे.

Leave a Reply

Your email address will not be published.