आस्थाबिलासपुर

प्लास्टर ऑफ पेरिस की प्रतिमाएं न बेचें: यादव…शहर में गणेश की प्रतिमा बनाने वाले मूर्तिकारों के पास पहुंचे महापौर…

बिलासपुर। गणेशउत्सव से पहले सोमवार को शहर के मूर्तिकारों के पास मेयर रामशरण यादव पहुंचे और उनसे प्रतिमा निर्माण के बारे में जानकारी लेते हुए अपील की कि प्लास्टर ऑफ पेरिस की मूर्तियां न बनाएं, क्योंकि इससे कई तरह के नुकसान होते हैं।

महापौर श्री यादव का कहना है कि सुंदरता और भव्यता की चाहत के कारण हमें मिट्टी की जगह प्लास्टर ऑफ पेरिस से बनी प्रतिमाएं आकर्षित करती हैं। गणेश और दुर्गा की इन प्रतिमाओं को तालाब में विसर्जित किया जाता है। पीओपी से बनी प्रतिमाएं न सिर्फ जलीय जीव-जंतुओं के लिए खतरा हैं, बल्कि वातावरण भी दूषित करती हैं। उन्होंने कहा कि हम प्रतिस्पर्धा के दौर में बड़ी-बड़ी प्रतिमाओं को स्थापित करते हैं।

गली, मोहल्लों, कॉलोनियों में गणेश व दुर्गा पंडालों की संख्या में भी इजाफा हुआ है। चूंकि मिट्टी की प्रतिमाएं महंगी पड़ती हैं। इस कारण लोग पीओपी की प्रतिमाएं खरीद लेते हैं। उन्होंने शहरवासियों से आग्रह किया कि मिट्टी से बनी प्रतिमाओं की ही स्थापना करें, ताकि जल प्रदूषण न हो। साथ ही मूर्तिकारों से चर्चा करते हुए शहर में बन रहे प्रतिमाओं को भी देखा। मेयर श्री यादव ने बताया कि शहर में पीओपी की प्रतिमा विक्रय यदि किया जाता है कि निगम की टीम उन पर कार्रवाई भी करेगी। निरीक्षण के दौरान पार्षद भास्कर यादव, पुरुषोत्तम पटेल भी मौजूद थे।

सेंदरी विसर्जन घाट को करेंगे व्यवस्थित

महापौर यादव ने बताया कि शहर व आसपास के ज्यादातर मूर्तियां विर्सजन के लिए कोनी के पास सेंदरी में ले जाया जाता है, क्योंकि वहां का पानी साफ-सुथरा रहता है। इसलिए उन्होंने जोन क्रमांक 2 के कमिश्नर सती यादव को विसर्जन स्पपो पहले उक्त घाट का सर्वे कर मूर्ति लेकर उतरने की व्यवस्था करने के निर्देश दिए हैं।