बिलासपुरशिक्षा

शिक्षक का तबादला रुकवाने कलेक्ट्रेट पहूंची सैकड़ो छात्राएं, जिला शिक्षा अधिकारी के आरोप से फूट-फूट कर रो पड़ी छात्रा…जानें क्यों

बिलासपुर। जिले में एक शिक्षक के प्रति बच्चों की अनोखा लगाव देखने को मिला. शासकीय कन्या उच्चतर माध्यमिक विद्यालय के सैकड़ों छात्राएं...

बिलासपुर। जिले में एक शिक्षक के प्रति बच्चों की अनोखा लगाव देखने को मिला. शासकीय कन्या उच्चतर माध्यमिक विद्यालय के सैकड़ों छात्राएं अपने शिक्षक का तबादला रुकवाने की गुहार लेकर कलेक्टर दफ्तर पहुंची। बच्चियों का कहना था कि उनके शिक्षक अजय कुमार ताम्रकार बहुत अच्छा पढ़ाते हैं, लेकिन उनका तबादला कहीं और कर दिया गया है, जिसकी वजह से उनकी पढ़ाई बाधित हो रही है।

छात्राओं ने बताया कि शासकीय कन्या माध्यमिक विद्यालय सीपत विकासखंड मस्तुरी में पदस्थ सहायक शिक्षक अजय कुमार ताम्रकार का तबादला चपोरा विकासखंड कोटा के स्कूल में कर दिया गया है। तबादले से नाराज छात्राएं क्लेक्टर के नाम ज्ञापन लेकर कलेक्टर कार्यालय पहुंची, जहां पर अचानक कलेक्ट्रेट पहुंचे जिला शिक्षा अधिकारी से गुहार लगाई। लेकिन डीआईओ डीके कौशिक ने बच्चों की बात सुनी तो मगर उल्टे बच्चों पर ही आरोप लगाते हुए सहायक शिक्षक अजय कुमार ताम्रकार के कहने से कलेक्टर से मिलने पहुंचने का आरोप लगाते नजर आए।

जबकि छात्राओं का कहना है कि वह किसी के कहने पर नहीं आए है यह कहते हुए फूट-फूट कर रोने लगी, बच्चियों ने कहा की खुद ही अपने माता पिता से इजाजत लेकर कलेक्टर और जिला शिक्षा पदाधिकारी से शिक्षक का तबादला रुकवाने की गुहार लगाने आई है। शिक्षक के ऊपर लगाए गए आरोप बेबुनियाद और गलत हैं।

वहीं डीईओ बच्चियों द्वारा लगाए गए आरोप से नकारा है। डीईओ डीके कौशिक का कहना है कि वहां 9 व्याख्याता और तीन विज्ञान प्रयोग शाला के सहायक शिक्षक है। जो की पर्याप्त है। अब इनमें से एक का स्थानांतरण होता है तो ये सामान्य प्रशासनिक प्रक्रिया है। डीईओ द्वारा बच्चियों को डांटे जाने के सवाल पर कहा मुझें नही मालूम और फिर मैं उन्हे क्यों डाटूंगा।

देखें वीडियो…

Leave a Reply

Your email address will not be published.