छत्तीसगढ़पुलिसबिलासपुरराजनीति

सिरगिट्टीवासियो ने आंखों में आंसू लिए आईजी और एसपी से लगाई न्याय की गुहार

बिलासपुर। सिरगिट्टी पुलिस द्वारा महिलाओ पर बर्बरतापूर्वक किये गए लाठी चार्ज की गूंज आज आईजी व एसपी कार्यालय तक पहुंची जहाँ 3 फरवरी को सिरगिट्टी मुख्यमार्ग पर हुई 5 वर्षीय बालक की सड़क दुर्घटना में मृत्यु में थाना प्रभारी राहुल तिवारी एवं नाव प्रशिक्षु आईपीएस उदय किरण के कृत्यों के खिलाफ बड़ी संख्या में सिरगिट्टी रहवासी एसपी कार्यालय पहुंचे।

मालूम हो कि 3 फरवरी को सिरगिट्टी थानान्तर्गत मुख्य सड़क पर ट्रेक्टर की चपेट में आने से 5 वर्षीय बालक की मृत्यु हो गई थी जहाँ दुर्घटना की सूचना मिली ही क्षेत्रवासियों की भारी भीड़ का जमावड़ा लगने लगा जिसे देखने जिससे चक्काजाम की स्तिथि उत्पन्न होने लगी तथा भीड़ ने ट्रेक्टर को अपने कब्जे में लिया रखा था। दुर्घटना की सूचना मिलते ही सिरगिट्टी थाना प्रभारी राहुल तिवारी दल बल के साथ घटना स्थल पर पहुंचे जिनसे क्षेत्र की महिलाओं ने थाना प्रभारी से मृत बालक के पिता की आने तक प्रतिक्षा करने की विनती की जिसके बाद थाना प्रभारी राहुल तिवारी बल के साथ महिलाओ के धक्का मुक्की के बाद उनके ऊपर लाठी भांजना शुरू कर दिया तथा मृत बालक के शव को एम्बुलेंस से जिला अस्पताल भेजवा स्वमं ट्रेक्टर को लेकर थाने आ गए।

थाना प्रभारी द्वारा महिलाओ के ऊपर किये गए लाठीचार्ज से माहौल और गरमाने लगा और देखते ही देखते घटना स्थल पर जनआंदोलन रूप लेने लगा और सभी ने एक स्वर में थाना प्रभारी के ट्रांसफर की मांग उठने लगी जिसके कारण सिरगिट्टी मुख्यमार्ग में दोनो तरफ गाड़ियों की लंबी लाईन लग गई। मामले की सूचना पाकर नवप्रशिक्षु आईपीएस उदय किरण भी घटना स्थल पर पहुंचे और माईक की सहायता से भीड़ को हटाने का हरसंभव प्रयास करने लगे। उन्होंने कहा कि मामले की गंभरता से जांच कर दोषियों के खिलाफ उचित कार्यवाई का आश्वासन भी दिया जिससे भीड़ को शांत किया गया तथा मौके पर ही लिखित आवेदन भी स्वीकार किया।

मामले ने तूल तब पलड़ा जब दुर्घटना को 3 दिन बीत जाने के बाद कोई भी पुलिस अधिकारी ने पीड़ित महिलाओं का बयान नही लेने आया जबकि लाठीचार्ज में जिन महिलाओं को चोट आईं है उनका डॉक्टरी मुलाहिजा भी नही किया गया यही नही अब अगर मुलाहिज़ा किया जाय तो जय कुछ नज़र नही आएगा। जबकि मामले में जबर्दस्ती उकसाने और हंगामा करने के मामले में पुलिस जबरिया कुछ लोगों के ऊपर अपराध पंजीबद्घ किया गया यही नही सिरगिट्टी पुलिस अब क्षेत्रवासियों से अनुशासन के विपरीत पेश आ रही है। इन सारी बातों से क्षुब्ध सिरगिट्टीवासी आज मृत बालक के परिजनों एवं आम आदमी पार्टी कार्यकर्ताओं के साथ आईजी ऑफिस पहुँचे जहाँ उन्होंने थाना प्रभारी राहुल तिवारी और आईपीएस उदय किरण के खिलाफ शिकायत की परन्तू आईजी दीपांशु काबरा के बाहर होने के की वजह से मुलाकात नही हुई। आईजी ऑफिस से निकलकर सिरगिट्टी वासी जमकर नारेबाजी करते हुए एसपी कार्यालय पहुंचे और थाना प्रभारी को हटाने की मांग करने लगे जहाँ डीएसपी श्री चौबे और सिविल लाइन थाना प्रभारी नसर शिदिक़्क़ी ने मामले में जांच कर उचित कार्यवाई का आश्वासन दिया।

शिकायत के दौरान जब सिरगिट्टी थाना प्रभारी और स्टाफ के रवैये की गाथा सुनाते सुनाते महिलाओ के आंख में आंसू छलक पड़े और एसपी कार्यालय का माहौल शांत हो गया। अपनी पीड़ा को उजागर करते हुए सिरगिट्टीवासी मार्मिक स्वर में पुलिस की धमकियों और गलियों को भी बताया।