बिलासपुर

बिलासपुर: रेरा ने कलेक्टर को रालास एन्ड चोपड़ा बिल्डर्स के कार्य पूर्णता प्रमाण पत्र व अन्य फर्जीवाड़ा की जांच के दिये निर्देश, बिल्डरों में मचा हड़कम्प…

रालास एन्ड चोपड़ा बिल्डर्स का शुरू से ही असहयोगात्मक रवैया रहा है 6 साल बाद भी जीवन विहार जाने वाली सड़क कच्ची है कालोनी की अंदर की सड़कें धस चुकी है नालियो में बहाव न होने

बिलासपुर। सर्वसुविधायुक्त आवासीय कॉलोनी का झांसा देकर लोगों से ठगी करने वाले बिल्डर पर रेरा ने नकेल कसी है रेरा के आदेश से बिल्डरशिप के नाम पर फर्जीवाड़ा करने वालो में हड़कम्प मच गया है।

छत्तीसगढ़ भू सम्पदा विनियामक प्राधिकरण ने हाईकोर्ट के सामने स्थित जीवन विहार आवासीय कॉलोनी के निर्माता मेसर्स रालास एन्ड चोपड़ा बिल्डर्स के पार्टनर संजय कुमार चोपड़ा, हेमन्त सिंघानिया, श्रीमती ऊषा देवी सिंघानिया, संगीता चोपड़ा, श्रीमती दक्षा जैन, श्रीमती हेमलता जैन द्वारा कॉलोनी विकास के नाम पर किए गए फर्जीवाड़ा पर कलेक्टर को 2 माह के भीतर जाँच कार्यवाही किए जाने निर्देशित किया है 2016 से अस्तित्व में आई जीवन विहार कॉलोनी में आज भी मूलभूत सुविधाएं नदारद है लेकिन तत्कालीन बोदरी सीएमओ से कार्य पूर्णता प्रमाण पत्र हासिल कर शासकीय निकायों को गुमराह करने में एक्सपर्ट रालास एन्ड चोपड़ा बिल्डर्स ने बीते दिनों कॉलोनी से लगी जमीन पर अवैध प्लाटिंग करने जीवन विहार कॉलोनी की सड़क से ही रास्ता बना डाला जिसे रोकने स्थानीय प्रशासन सहित हाईकोर्ट की शरण मे कालोनीवासियों को जाना पड़ा अंततः रेरा में प्रकरण दर्ज होने के बाद हुई सुनवाई पश्चात बीते कल 11 जनवरी को बिल्डर पर शिकंजा कसा गया।

जीवन विहार रेसिडेंशियल वेलफेयर सोसायटी के अध्यक्ष लक्ष्मी नारायण शर्मा ने बताया कि बोदरी तहसील जिला बिलासपुर में स्थित जीवन विहार आवासीय कॉलोनी में समस्याओ का अम्बार है कॉलोनी निर्माता रालास एन्ड चोपड़ा बिल्डर्स का शुरू से ही असहयोगात्मक रवैया रहा है 6 साल बाद भी जीवन विहार जाने वाली सड़क कच्ची है कालोनी की अंदर की सड़कें धस चुकी है नालियो में बहाव न होने से वह बजबजा रही है ब्रोसर में दिया गया चिल्ड्रन प्ले एरिया, गार्डन व कवर्ड नालियां जर्जर अवस्था मे है पेयजल के लिए आजतक बिल्डर द्वारा पम्प हाउस का निर्माण नही किया गया है निजी बोर से कॉलोनी में पानी सप्लाई किया जा रहा है कॉलोनी की बाउंड्री वाल टूट चुकी है इसके अलावा भी अन्य समस्याए है जिसका निराकरण करने बिल्डर से अनेको बार निवेदन किया गया लेकिन तत्कालीन बोदरी नगर पंचायत सीएमओ से कार्य पूर्णता प्रमाण पत्र हासिल कर चुका बिल्डर कालोनी से लगी जमीन में अवैध प्लाटिंग करने में व्यस्त रहा हाईकोर्ट में याचिका व स्थानीय प्रशासन को शिकायत के बाद बिल्डर की अवैध प्लाटिंग पर रोक लगाया जाना संभव हुआ अवैध प्लाटिंग रुकने से खिसियाया बिल्डर कालोनीवासियों को धमकी भी देता रहा है।

बहरहाल वर्षो बाद भी जीवन विहार आवासीय कॉलोनी में मूलभूत सुविधाए न मिलने से कालोनीवासियों ने छत्तीसगढ़ भू सम्पदा विनियामक प्राधिकरण (रेरा) में अधिवक्ता विनय कुमार श्रीवास्तव के माध्यम से बिल्डर के विरुध्द प्रकरण दर्ज कराया । बिल्डर के कृत्यों से अवगत होने के बाद रेरा अध्यक्ष विवेक ढांड ने 11 जनवरी को आदेश पारित करते हुए बिलासपुर कलेक्टर को 2 माह के भीतर रालास एन्ड चोपड़ा बिल्डर्स द्वारा कार्य पूर्णता प्रमाण पत्र सहित अन्य फर्जीवाड़ा की जाँच करने व बिल्डर को कॉलोनी में मूलभूत सुविधाओं को पूरा करने का निर्देश दिया है रेरा के फैसले के बाद कालोनीवासियों में जीवन विहार कॉलोनी में मूलभूत सुविधाएं पाने की उम्मीद जगी है वही सर्वसुविधायुक्त आशियाना देने के नाम पर निवेशकों को धड़ल्ले से ठगने व स्थानीय निकायों को अपनी जेब मे रखने का दम भरने वाले शहर के अन्य बिल्डर रेरा के सख्त रवैये सकते में है।

देखें आर्डर कापी

https://in.docworkspace.com/d/sILL7p80t2oeEngY?sa=e1&st=1t