कांग्रेसछत्तीसगढ़

छत्तीसगढ़ कांग्रेस में फिर बढ़ेगी रार! भूपेश बघेल के समर्थन में दर्जनों विधायकों का दिल्ली में जमावड़ा, मुख्यमंत्री बोले- राजनीतिक मंशा से नहीं गए…

पंजाब कांग्रेस में सबकुछ ठीक नहीं चल रहा और पार्टी इस आंतरिक कलह से बाहर आने के लिए बेचैन है। लेकिन कांग्रेस के लिए मुश्किलें यहीं खत्म नहीं होती हैं क्योंकि अब छत्तीसगढ़ कांग्रेस में एक बार फिर रार बढ़ने की आशंका गहराने लगी है। ढाई साल के सीएम के फॉर्मूले को लेकर मौजूदा मुख्यमंत्री भूपेश बघेल और राज्य के कैबिनेट मंत्री टीएस सिंहदेव के बीच कुछ ही दिनों पहले तनातनी की स्थिति बन गई थी। जैसे-तैसे पार्टी ने इस मामले को शांत कराया था

अब एक बार फिर भूपेश बघेल के समर्थन में विधायकों का जमावड़ा दिल्ली में हुआ है। जानकारी के मुताबिक एक दर्जन से ज्यादा विधायक बुधवार को दिल्ली पहुंचे। यह विधायक इस मांग के साथ दिल्ली पहुंचे हैं कि भूपेश बघेल को राज्य का मुख्यमंत्री बने रहना चाहिए। कांग्रेस विधायकों के दिल्ली पहुंचने के एक दिन बाद अब छत्तीसगढ़ के सीएम भूपेश बघेल की भी प्रतिक्रिया आई है।

गुरुवार को भूपेश बघेल ने कहा कि विधायकों की इस दौरे की कोई राजनीतिक मंशा नहीं है। सीएम ने कहा कि ‘क्या विधायक कहीं जा भी नहीं सकते हैं? अगर कोई वहां गया है, तो इसे राजनीतिक एंगल से नहीं देखा जाना चाहिए। अगर कोई राजनेता कही जाता तो क्या इसका मतलब सिर्फ यही हैं कि वो राजनीतिक लोगों से मिलने के लिए ही कही जा रहा है। पीएल पुनिया दिल्ली में नहीं है। कैसे कोई उनसे वहां मिल सकता है?’

इधर कांग्रेस विधायक बृहस्पति सिंह ने ‘ANI’ से बातचीत में कहा कि कुल 15-16 विधायक यहां आएंगे। आज ज्यादा राजनीतिक मूवमेंट नहीं है। हम इं-चार्ज पीएल पुनिया से मिलेंगे। राहुल गांधी छत्तीसगढ़ का दौरा करेंगे और हम उनसे आग्रह कर रहे हैं कि वो हमारे विधानसभा में भी आएं। हम अच्छी हालत में हैं। 90 में से 70 विधायक हमारे साथ हैं। 60 विधायकों ने तो पहले ही लिखित समर्थन हमारे इं-चार्ज और राहुल गांधी को दे दिया है।

उन्होंने कहा कि ‘मुख्यमंत्री पद को लेकर कोई इशु नहीं है। छत्तीसगढ़ में हमारी स्थिति मजबूत है। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल अच्छा काम कर रहे हैं। वो ओबीसी कम्यूनिटी से आते हैं। सीएम बदलने का तो कोई सवाल ही नहीं है। पार्टी शीर्ष नेतृत्व, सभी विधायक और छत्तीसगढ़ की जनता मुख्यमंत्री की कार्यशैली से संतुष्ट है। किसी एक को संतुष्ट करने के लिए सरकरा को अस्थिर नहीं किया जा सकता है।

Related Articles

Back to top button
Close
Close
Open chat