छत्तीसगढ़

मुख्यमंत्री भूपेश बघेल बोलें…’चिटफंड कंपनियों के ब्रांड एंबेसडर रमन सिंह और उनका परिवार, 6 हजार करोड़ की मनी लॉंड्रिंग, ED से करवाएं जांच…

रायपुर। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने ईडी, आईटी की कार्रवाई पर पूर्व मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह व भाजपा फिर हमला बोला। उन्होंने कहा कि सीएम सर कौन हैं… सीएम मैडम कौन हैं… यह बताना चाहिए। ईडी के पास केस है। दूसरी बात चिटफंड कंपनियां आम जनता के हजारों करोड़ रुपये लूटकर ले गए। ब्रांड एंबेसडर कौन थे? रमन सिंह, उसके परिवार के लोग, उनका सांसद बेटा… खूब प्रचार किए। अब मैं ईडी से निवेदन करता हूं… केंद्र सरकार से आग्रह करता हूं….। चिटफंड कंपनियां 6 हजार करोड़ लेकर भाग गए हैं। हमने संपत्ति खोजा तो 40 करोड़ रुपये मिला है, लेकिन आंकड़ा तो 6 हजार करोड़ का है। इसका मतलब है कि मनी लॉड्रिंग हुई है। इस मामले को ईडी को जांच में लेकर कार्रवाई करनी चाहिए। क्या रमन सिंह इसके लिए तैयार हैं?

कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी के वायनाड के बयान को उदयपुर हिंसा से जोड़कर दिखाने व नोएडा में एकर की गिरफ्तारी पर सीएम भूपेश बघेल ने कहा कि उत्तर प्रदेश पुलिस अपराधियों को बचाने की कोशिश कर रही है, जबकि उन्हें सहयोग करना था। उन्होंने कहा कि न्यायालय के आदेश को भारतीय जनता पार्टी नहीं मानती। दिल्ली पुलिस पकड़ने गई थी, उसमें बाधा उत्पन्न किए। नूपुर शर्मा के संबंध में सुप्रीम कोर्ट की टिप्पणी के बाद भारतीय जनता पार्टी के लोग किस तरह बयानबाजी कर अपमान कर रहे हैं। वे संविधान को कमजोर करना चाहते हैं। ये अपने हिसाब से एजेंडा चलाना चाहते हैं।

पहले नफरत फैलाओ, फिर स्नेह यात्रा निकालो

भाजपा के स्नेह यात्रा पर सीएम भूपेश ने कहा कि पहले नफरत फैलाओ और फिर स्नेह यात्रा निकालो। नफरत के बीज पहले बोओ, समाज के बीच में भेद डालो। अनुसूचित जाति, अनुसूचित जनजाति और अल्पसंख्यक के बीच में भेद डालने का काम करो। यह तो ऐसा है कि किसी को सहयोग करना है तो समस्या पैदा करो और फिर सहयोग करो। बघेल ने कहा कि उदयपुर में जो घटना घटी उसमें मृतक भारतीय जनता पार्टी का था, उकसाने वाला भाजपा का, हत्यारा भी भारतीय जनता पार्टी का और छत्तीसगढ़ में बंद करा रहे हैं। एक भी भाजपा नेता यह स्वीकार नहीं कर रहे हैं कि हमारे कार्यकर्ताओं से गलती हुई है। उन्होंने कहा कि जब तक आपमें स्वीकार करने का साहस नहीं है। आप कुछ भी करिये जनता उसे स्वीकार नहीं करेगी।

डॉ. रमन सिंह ने प्रेस कांफ्रेंस में यह कहा था

दरअसल, एक दिन पहले रायपुर के एकात्म परिसर में प्रेस कांफ्रेंस में डॉ. रमन ने कहा था कि भूपेश बघेल के करीबियों के यहां आईटी की रेड में करोड़ों की हेराफेरी के खुलासे ने छत्तीसगढ़ महतारी को शर्मसार किया है। सूर्यकांत तिवारी और सीएम की डिप्टी सेक्रेटरी दोनों ही सरकार के संरक्षण में प्रदेश को लूटने में लगे हैं। नैतिकता के आधार पर मुख्यमंत्री को इस्तीफा दे देना चाहिए। सीएम के करीबियों के पास से करीब 10 करोड़ कैश, 5 करोड़ रुपये की ज्वेलरी और लगभग 200 करोड़ के दस्तावेजी प्रमाण मिले हैं। यह पैसा कहां जा रहा था, यह किसी से छुपा नहीं है। उन्होंने नोएडा में न्यूज चैनल के एंकर की गिरफ्तारी मामले में छत्तीसगढ़ पुलिस की कार्रवाई को गलत ठहराया था।

Leave a Reply

Your email address will not be published.