छत्तीसगढ़बिलासपुर

बिलासपुर: यूपी से ससुराल आया कोरोना का संदिग्ध  मरीज…स्वास्थ्य विभाग की टीम ने की जांच…आयुक्त भुवनेश यादव ने दिए, जांच कर लॉक करने के निर्देश

बिलासपुर: यूपी से ससुराल आया कोरोना का संदिग्ध  मरीज...स्वास्थ्य विभाग की टीम ने की जांच...आयुक्त भुवनेश यादव ने दिए, जांच कर लॉक करने के निर्देश

बिलासपुर। स्वास्थ्य विभाग के आयुक्त के कड़े तेवर के बाद जिले के स्वास्थ्य महकमे ने कोरोना के एक संदिग्ध मरीज की जांच की और सेंपल लेकर उसे उसके घर में ही लॉक कर दिया। अब सेंपल को जांच के लिए रायपुर भेजा जाएगा।

मुख्यमंत्री भूपेश बघेल और स्वास्थ्य मंत्री टीएस सिंहदेव की अपील और आदेश के बाद भी जिले का स्वास्थ्य महकमा कोरोना को लेकर गंभीर नजर नहीं आ रहा है। हालांकि कोरोना से निपटने के दावे जरूर किए जा रहे हैं। मामला चकरभाठा थाना क्षेत्र के एक गांव का है, जहां पिछले दिनों उत्तर प्रदेश के लखनऊ के ईंट भट्‌ठे से काम कर एक परिवार का दामाद पहुंचा। जब वह घर पहुंचा तो उसे हल्का बुखार था। तीन दिनों के बाद यानी कि बीते रविवार से वह बुखार से तप रहा है। उसे सुखी खांसी भी तेजी आ रही है। उसके शरीर में कोरोना के लगभग लक्षण दिखाई दे रहे हैं। एक युवक ने जब इसकी जानकारी कोरोना के नोडल अधिकारी डॉ. एसके लाल को दी तो उन्होंने उसे यह कहकर झिड़क दिया कि उसके पास अभी समय नहीं है। यह बात जैसे ही एक मीडियाकर्मी के पास पहुंची तो उन्होंने सोमवार दोपहर स्वास्थ्य विभाग के आयुक्त भुवनेश यादव को यह जानकारी दी। इसे गंभीरता से लेते हुए आयुक्त यादव ने बिलासपुर के सीएमएचओ को फोन लगाया और पहले तो कोरोना के प्रति लचर रुख अपनाने पर खरी-खोटी सुनाई। फिर पीड़ित की जांच करने के निर्देश दिए। उनकी फटकार सुनने के बाद आनन-फानन में जिले से टीम उसका घर भेजी गई। टीम ने कोरोना के संदिग्ध युवक की जांच की और डॉक्टरों का कहना है कि वह सामान्य सर्दी-खांसी और बुखार का मरीज है। फिर ऐहतियात के तौर पर सेंपल ले लिए गए हैं और उसे उसके घर में ही लॉक कर दिया गया है।

पुलिस भी पूछताछ कर लौट आई थी

सूत्र बताते हैं कि यूपी से लौटे युवक के बुखार से पीड़ित होने की जानकारी चकरभाठा पुलिस को भी दी गई थी। पुलिस की टीम संबंधित परिवार के घर गई थी और युवक की सास से पूछताछ की कि क्या उसके यहां कोई बाहर से आया है और क्या वह सर्दी-खांसी व बुखार से पीड़ित है। महिला ने युवक के बाहर से आने की जानकारी तो दी, लेकिन डर के कारण उसके बुखार से पीड़ित होने की बात को छिपा दिया। इसके बाद पुलिस लौट आई।

जांच कर घर में लॉक करने के निर्देश दिए गए हैं: भुवनेश यादव

मामले में स्वास्थ्य विभाग के आयुक्त भुवनेश यादव का कहना है कि एक मीडियाकर्मी से उन्हें उस युवक के बारे में जानकारी मिली तो उन्होंने सीएमएचओ को फोन पर उस युवक की जांच करने और उसे घर में लॉक करने के निर्देश दिए हैं।

सेंपल लिए गए हैं: महाजन

जिस युवक को कोरोना का संदिग्ध बताया जा रहा है, उसके घर टीम भेजी गई थी। उसकी जांच की गई है, जिसमें प्रथमदृष्टया सर्दी-खांसी व बुखार का सामान्य मरीज नजर आ रहा है। फिर भी सेंपल लिया गया है, जिसे जांच के लिए रायपुर भेजा जाएगा। युवक को उसके घर में ही सील कर दिया गया है।

Show More

Related Articles

Back to top button
Close
Close