क्राइम

सुरेश रैना के चाचा और भाई की हत्या का केस सुलझा, क्रिकेटर ने पंजाब पुलिस और CM अमरिंदर सिंह को कहा शुक्रिया…

रैना ने एक ट्वीट में कहा, “पंजाब में आज सुबह मैंने जांच अधिकारी से मुलाकात की जिनकी अगुवाई में तीन अपराधियों को गिरफ्तार किया गया है। उनकी कोशिशों की मैं सच में सराहना करता हूं। हमें जो नुकसान हुआ है उसकी भरपाई नहीं की जा सकती, लेकिन इससे निश्चित तौर पर आगे अपराधों को रोकने में मदद मिलेगी। मदद के लिए धन्यवाद, पंजाब पुलिस और मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह।”

इस हमले में रैना के फूफा और चचेरे भाई की मौत हो गई थी, जबकि बुआ अभी भी गम्भीरावस्था में अस्पताल में उपचाराधीन है। उधर, राज्य के पुलिस महानिदेशक दिनकर गुप्ता ने बुधवार को चंडीगढ़ में इस बारे में विस्तृत जानकारी देते हुए बताया कि इस सिलसिले में 11 अन्य हमलावरों की तलाश की जा रही है जो वारदात के बाद से फरार हैं। उन्होंने बताया कि इस हमले में रैना के फूफा अशोक कुमार की मौके पर ही मौत हो गई थी और चचेरे भाई कौशल कुमार ने गत 31 अगस्त को अस्पताल में दम तोड़ दिया था, जबकि बुआ आशा रानी की भी हालत गम्भीर है और उनका उपचार चल रहा है। दो अन्य घायलों को अस्पताल में छुट्टी दे दी गई है।

उल्लेखनीय है कि घटना के तत्काल बाद मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने अमृतसर बॉर्डर रेंज के पुलिस महानिरीक्षक के नेतृत्व में विशेष जांच दल (एसआईटी) का गठन किया था जिसमें पठानकोट के वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक (एसएसपी), पुलिस अधीक्षक और पुलिस उपाधीक्षक धारकलां इसके सदस्य थे। गत 15 सितम्बर को एसआईटी को सूचना मिली थी कि घटना के बाद डिफेंस रोड पर दिखाई दिए तीन संदिग्ध लोग पठानकोट रेलवे स्टेशन के निकट झुग्गियों में रह रहे हैं। एसआईटी ने तुरंत वहां छापा मार कर तीनों को हिरासत में ले लिया। इनकी शिनाख्त मूल रूप से उत्तर प्रदेश निवासी सावन, राजस्थान के झंझुनू जिले के चिरावा और पिलानी निवासी मोहब्बत और शाहरुख खान के रूप में की गई।

Related Articles

Back to top button
Close
Close
Open chat