स्वास्थ्य

कोरोना: वैक्सीन से कोई नहीं चूके, जापान, अमेरिका, चीन में मुफ्त टीका, जानें किस देश की क्या है तैयारी…

कोरोना वायरस से बचाव के लिए टीकाकरण अभियान से पहले कई देश की सरकारों ने कड़े कदम उठाने शुरू कर दिए हैं। सरकार चाहती हैं कि कोई भी नागरिक वैक्सीन लगने से छूट न जाए ताकि महामारी को जड़ से खत्म किया जा सके। इसके लिए अभी से कई तरह की सख्तियां लागू करने की तैयारी शुरू हो गई है। ब्रिटेन, रूस, ऑस्ट्रेलिया समेत कई देशों ने हर व्यक्ति को वैक्सीन लगाना सुनिश्चित करने के लिए नियम बनाए हैं। वहीं, अमेरिका और जापान जैसे देशों में लोगों को वैक्सीन मुफ्त लगाने की तैयारी की जा रही है।

ब्रिटेन की सरकार ने फाइजर की वैक्सीन के इस्तेमाल को मंजूरी दे दी है। संभवत: अगले सप्ताह से लोगों को टीका लगाने का काम शुरू होगा। सरकार ने इसके लिए वैक्सीन मंत्री नादिम जहावी की नियुक्ति की है। यहां लोगों को रेस्तरां, बार, सिनेमाहॉल या मॉल में प्रवेश से पहले वैक्सीन लगने का प्रमाण दिखाना होगा। इसके लिए एक ऐप तैयार किया गया है जिसमें ग्रीन सिग्नल दिखाने पर ही प्रवेश दिया जाएगा।

रूस में कोविड बोनस: रूसी सरकार ने डॉक्टर, नर्सों को कोविड टीका लगवाने पर बोनस देने का ऐलान किया है। यह बोनस 300 से लेकर एक हजार डॉलर तक होगा। सरकार ने कहा है कि टीका नहीं लगवाने वालों को बोनस नहीं दिया जाएगा। रूस ने जितनी जल्दी वैक्सीन तैयार की थी, उसे लेकर अक्तूबर माह में करीब 3000 स्वास्थ्यकर्मियों पर एक सर्वे कराया गया। इसमें 50 फीसदी ने टीका लगवाने से इनकार कर दिया था। रूस आम लोगों को टीका लगाने की शुरुआत कर चुका है।

अंतरराष्ट्रीय यात्रा के लिए कोविड पास: इंटरनेशनल एयर ट्रांसपोर्ट एसोसिएशन (आईएटीए) कोविड वैक्सीन लगवाने वाले अंतरराष्ट्रीय हवाई यात्रियों के लिए डिजिटल पासपोर्ट तैयार कर रही है। जिन यात्रियों ने कोविड-19 का टीका लगवाया होगा, उनके टीकाकरण की जानकारी उनके पासपोर्ट पर दर्ज होगी। इसका फायदा यह होगा कि ऐसे यात्रियों को किसी भी देश में यात्रा करने पर क्वारंटाइन नहीं होना होगा। इससे उनके समय और पैसे दोनों की बचत होगी। हाल में ऑस्ट्रेलिया की क्वांटस एयरलाइन ने यात्रा से पहले कोविड टीका अनिवार्य करने का प्रस्ताव रखा था।

जापान, अमेरिका, चीन में मुफ्त टीका: जापान की सरकार ने सभी नागरिकों को मुफ्त वैक्सीन देने के लिए संसद में बिल पास किया है। इसमें कहा गया है कि सरकार जापान के 126 मिलियन लोगों के लिए सभी वैक्सीन खर्चों को कवर करेगी। इससे पहले अमेरिका में भी ट्रंप प्रशासन स्वास्थ्यकर्मियों और सबसे जरूरतमंदों को वैक्सीन की मुफ्त खुराक देने की बात कह चुका है। चीन में देश से बाहर पढ़ने जाने वाले छात्रों के लिए सरकार ने मुफ्त टीकाकरण शुरू किया है।

भारत में सबको टीका जरूरी नहीं: आईसीएमआर
भारतीय आयुर्विज्ञान अनुसंधान परिषद (आईसीएमआर) कहा चुका है कि देश में सबको कोरोना वैक्सीन की जरूरत नहीं है। आईसीएमआर के महानिदेशक बलराम भार्गव के मुताबिक टीका अभियान का उद्देश्य संक्रमण के प्रसार की श्रृंखला को तोड़ना होगा। हम आबादी के कुछ हिस्से का टीकाकरण करने और संक्रमण के प्रसार की श्रृंखला को तोड़ने में सक्षम हैं तो हमें पूरी आबादी के टीकाकरण की आवश्यकता नहीं होगी।

Related Articles

Back to top button
Close
Close
Open chat