छत्तीसगढ़

पूर्व मुख्यमंत्री अजीत जोगी की अचानक तबियत बिगड़ी…गुड़गांव मेदांता में कराया गया भर्ती…सांस लेने में दिक्कत की शिकायत…

रायपुर। अजीत जोगी (Ajit jogi) की तबियत अचानक बिगड़ गयी है। देर रात साढ़े 11 बजे उन्हें गुड़गांव के मेदांता में भर्ती कराया गया है। रात आठ बजे से उनकी तबियत बिगड़नी शुरू हुई, जिसके बाद उन्होंने डॉक्टरी सलाह ली, लेकिन रात होते होते उनकी तबियत ज्यादा ही खराब हो गयी। सीने के हल्का दर्द और सांस लेने में दिक्कत की शिकायत की वजह से उन्हें अस्पताल में भर्ती कराया गया है। डॉक्टरों ने उन्हें स्पेशल ऑब्जेर्वशन में रखा है। अजीत जोगी के OSD अशद रउफी ने उनकी तबियत खराब होने और उनके मेदांता में भर्ती होने की पुष्टि की है।

आपको बता दें कि अजीत जोगी परसों दिल्ली से लौटने के बाद उसी रात दिल्ली फिर वापस चले गए थे। अजीत जोगी के साथ उनकीं पत्नी रेणु जोगी भी मौजूद है।

आपको बता दें कि अजीत जोगी के खिलाफ कल ही एक FIR दर्ज कराया गया था। जाति छानबीन समिति के निष्कर्ष के बाद बिलासपुर के सिविल लाईंस थाने में अजित जोगी के खिलाफ अपराध दर्ज कराया गया था। अब से कुछ देर पहले गौरेला थाना में समीरा पैकरा ने अजित जोगी के विरुद्ध फर्जी जाति प्रमाण पत्र बनवाने और उसका छलपूर्वक दुरपयोग करने का आरोप लगाते हुए अपराध दर्ज कराया था।

समीरा पैकरा ने यह FIR तत्कालीन तहसीलदार पतरस तिर्की के उस शपथ पत्र के आधार पर की है जिसमें कि पतरस तिर्की द्वारा यह दावा किया गया है कि,उनके द्वारा जोगी का प्रमाणपत्र कभी जारी नही किया गया, और जो उनके हस्ताक्षर हैं वे भी उनके नही है। समीरा पैकरा ने FIR में आरोप लगाया है कि, पूर्व मुख्यमंत्री अजित जोगी ने उस फर्जी प्रमाण पत्र का लाभ लिया और छल किया।

गौरेला थाने में पूर्व मुख्यमंत्री और मरवाही विधायक अजित जोगी के खिलाफ धारा 420,467,471 के तहत अपराध पंजीबद्ध किया गया है।