अन्य

WhatsApp ने अप्रैल में 16 लाख से अधिक भारतीय अकाउंट पर लगाया प्रतिबंध, जानें वजह…

व्हाट्सएप ने अप्रैल में 16 लाख से अधिक भारतीय अकाउंट पर प्रतिबंध लगा दिया और इसका कारण प्लेटफॉर्म के दिशानिर्देशों का उल्लंघन करना है।

मेटा कंपनी के इंस्टेंट मैसेजिंग प्लेटफॉर्म व्हाट्सएप ने अप्रैल महीने के लिए सूचना प्रौद्योगिकी नियम 2021 के तहत मासिक रिपोर्ट जारी की है। इस रिपोर्ट से पता चलता है कि व्हाट्सएप ने अप्रैल में 16 लाख से अधिक भारतीय अकाउंट पर प्रतिबंध लगा दिया और इसका कारण प्लेटफॉर्म के दिशानिर्देशों का उल्लंघन करना है। रिपोर्ट में 1 अप्रैल 2022 से 30 अप्रैल 2022 तक की अवधि की जानकारी दर्ज की गई है!

इस बारे में व्हाट्सएप के एक प्रवक्ता ने कहा, “व्हाट्सएप एंड-टू-एंड एन्क्रिप्टेड मैसेजिंग सेवाओं के बीच दुरुपयोग को रोकने के लिए प्रतिबंध है। पिछले कुछ वर्षों में, हमने अपने यूजर्स को अपने प्लेटफॉर्म पर सुरक्षित रखने के लिए आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस और अन्य मॉडन टेक्‍नालॉजी, डेटा वैज्ञानिकों और विशेषज्ञों और प्रक्रियाओं में लगातार निवेश किया है।”

उन्‍होंने कहा “आईटी नियम 2021 के अनुसार, हमने अप्रैल 2022 के महीने के लिए अपनी रिपोर्ट पब्लिश की है। इस यूजर सिक्‍योरिटी रिपोर्ट में यूजर्स की शिकायतों का डिटेल और व्हाट्सएप द्वारा की गई संबंधित कार्रवाई के साथ-साथ व्हाट्सएप की स्वयं की निवारक कार्रवाइयां शामिल हैं। व्हाट्सएप ने अप्रैल के महीने में 1.6 मिलियन से अधिक खातों पर प्रतिबंध लगा दिया “।

WhatsApp आमतौर पर कंपनी की नीतियों और दिशानिर्देशों का उल्लंघन करने के लिए अकाउंट पर प्रतिबंध लगाता है। कुछ उदाहरण जिनमें व्हाट्सएप अकाउंट को प्रतिबंधित किया जा सकता है, वे हैं झूठी जानकारी साझा करना, एक असत्यापित संदेश को कई संपर्कों को फारवर्ड करना समेत अन्‍य बहत कुछ। प्लेटफॉर्म पर फेक न्यूज के प्रसार का मुकाबला करने के लिए, मैसेजिंग प्लेटफॉर्म के पास बाहरी लिंक्स की पुष्टि करने और बहुत कुछ शामिल है। इस प्‍लेटफार्म पर उन संदेशों को भी चिह्नित करता है जिन्हें कई बार फारवर्ड किया गया है, जो ज्यादातर मामलों में नकली हो जाते हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published.