स्वास्थ्य

सर्वे में बड़ा खुलासा: देश का हर चौथा व्‍यक्ति हो चुका है कोरोना संक्रमित, पॉजिटिव मरीजों की असल संख्‍या हो सकती है…

कोरोना वायरस की खात्‍मे की उल्‍टी गिनती शुरू हो चुकी है। टीकाकरण अभियान जोरो पर है अबतक कई लाख लोगों को टीका लगाया जा चुका है। लेकिन इस बीच जो सरकारी आंकड़े सामने आए हैं उसके मुताबिक कोरोना की चपेट में अभी भी 1.08 करोड़ लोग हैं। लेकिन जो सच है वो इन सरकारी आंकड़ों से बहुत अलग और बहुत दूर है। सरकारी एजेंसी की तरफ से कराए गए सीरो सर्वे के आंकड़ें बताते हैं कि देश में कोरोना संक्रमितों की वास्तविक संख्या सरकारी आंकड़े से कहीं बहुत ज्यादा 30 करोड़ हो सकती है। इसके मुताबिक देश का हर चौथा व्यक्ति इस महामारी की चपेट में आ चुका है।

सर्वेक्षण से जुडे़ एक सूत्र ने इस बात की जानकारी दी है। आपको बता दें कि दुनिया भर में अमेरिका अभी भी नंबर 1 है जहां कोरोना संक्रमितों की संख्‍या सबसे ज्‍यादा (2.70 करोड़) है। इसके बाद नंबर आता है भारत का। सर्वे के ये परिणाम तब सामने आए है जबकि पिछले हफ्ते एक निजी संस्था की तरफ से कराए गए सर्वेक्षण की तुलना में यह सर्वेक्षण बहुत सख्त मानकों के आधार पर किया गया है। आईसीएमआर ने ये सर्वे कराया है। गुरुवार यानी कि आज इसके आधिकारिक परिणाम जारी किए जाएंगे।

चुकि अभी परिणाम सामने नहीं आए हैं इसलिए सूत्रों ने यह भी नहीं बताया है कि सर्वेक्षण कितने लोगों पर किया गया था। आपको बता दें कि आबादी में किसी बीमारी के प्रसार का आकलन करने के लिए सीरो यानी सीरोलॉजिकल सर्वेक्षण किया जाता है। यह उस बीमारी के वायरस के खिलाफ पैदा होने वाली विशिष्ट एंटीबॉडी की मौजूदगी का पता लगाकर किया जाता है। सीरो सर्वेक्षण के लिए किसी क्षेत्र की आबादी के बीच से रैंडमली लोगों के रक्त के नमूने लेकर उनकी जांच की जाती है।

बुधवार को कोरोना के 11,039 नए मामले

जानकारी के मुताबिक देश में बुधवार को कोरोना के 11,039 नए मामले आए हैं वहीं अब तक 1,04,62,631 लोग संक्रमण से ठीक हो चुके हैं। स्‍वास्‍थ्‍य मंत्रालय की तरफ से जो आंकड़े पेश किए गए हैं उसके मुताबिक देश में कोरोना संक्रमितों की संख्या 1,07,77,284 हो गई है। वहीं, संक्रमण से 110 और मरीजों की मौत हो जाने से मृतकों की संख्या 1,54,596 हो गई है। देश में 1,04,62,631 लोगों के स्वस्थ होने के कारण कोरोना वायरस से ठीक होने की दर 97.08 प्रतिशत हो गई है जबकि मृत्यु दर 1.43 प्रतिशत है।

Related Articles

Back to top button
Close
Close
Open chat