रेलवे

सावधान: इंडियन रेलवे में नौकरी के नाम पर हो सकता है धोखा, सरकार ने किया अलर्ट…विज्ञापन निकालने वाली एजेंसी ने मांगे पांच राज्यों से आवेदन…

इंडियन रेलवे ने 5000 से अधिक भर्ती के विज्ञापन को फर्जी करार दिया है. रेल मंत्रालय की तरफ से स्पष्ट कहा गया है कि रेलवे ने ऐसी कोई भर्ती नहीं निकाली है, ये विज्ञापन फर्जी हैं. PIB ने रेलवे में 5000 से अधिक पदों पर भर्ती की खबर को फेक करार देते हुए ट्वीट किया है. ट्वीट में लिखा गया है कि, ‘अवेस्ट्रान इन्फोटेक द्वारा भारतीय रेलवे में नौकरियों का एक अखबार का विज्ञापन सोशल मीडिया पर फैलाया जा रहा है। रेल मंत्रालय ने कथित नोटिस में बताई नौकरियों को आउटसोर्स नहीं किया है, साथ ही योग्यता भी गलत है एवं रेलवे में लिंग के आधार पर कोई भेदभाव नहीं होता है।

दरअसल, विज्ञापन के अनुसार, आउटसोर्सिंग एजेंसी ने रेलवे के 8 पदों पर 5285 वैकेंसी निकाली हैं. इन पदों पर आवेदन करने के लिए 750 रुपये शुल्क भी चुकाने के लिए कहा गया है. विज्ञापन में दिखाई गई इन 5,285 भर्तियों में जूनियर असिस्टेंट के 600, कंट्रोलर 35, बुकिंग क्लर्क 430, गेटमैन 1200, कैंटीन सुपरवाइजर 350, केबिन मैन 780 और वेल्डर के 430 पद शामिल हैं. विज्ञापन में विभिन्न पदों के लिए शैक्षणिक योग्यता भी अलग-अलग निर्धारित की गई है. इसके साथ ही कहा गया है कि रेलवे में इन पदों पर केवल साक्षात्कार के आधार पर कैंडिडेट्स का चयन किया जाएगा.

विज्ञापन निकालने वाली एजेंसी ने महज पांच राज्यों बिहार, झारखंड, छत्तीसगढ़, मध्य प्रदेश और पंजाब के उम्मीदवारों के लिए आवेदन मांगे हैं. रेल मंत्रालय ने लोगों को चेताते हुए कहा कि ऐसी भर्तियों के झांसे में ना आएं. रेलवे की तरफ से इस तरह का कोई भी विज्ञापन जारी नहीं किया गया है.

Related Articles

Back to top button
Close
Close
Open chat